Hide sex khne

आगे संक्षेप में यह कि अब मैं पति, पुत्र, बहू के साथ सानंद जीवनयापन कर रही थी. ” “यहां तो हमेशा ही कुशल मंगल था.” “लेकिन मैंने तो सुना था कि…” उसने होंठों पर उंगली रखकर चुप रहने का इशारा करते हुए पास बुलाया और बोली, “हमारे परिवार में कुछ भी गड़बड़ नहीं थी.

एकाध महीने बाद सुना कि रिया के मायके में भी सब कुछ ठीक हो गया है. वह तो मैंने और मेरी सास ने मिलकर गृह-कलह का नाटक किया था, ताकि रिया को अपने दायित्वों का एहसास हो.” मेरी आंखें बड़ी-बड़ी हो गईं. मैं किस प्रकार तुम्हें धन्यवाद दूं, समझ में नहीं आ रहा है.

रिया ने जो कुछ यहां किया था, वही सब कुछ जब उसकी भाभी ने किया, तो वह परेशान हो गई. जीवन का केवल एक पक्ष देखा था मैंने, लेकिन अब मैं सब कुछ समझने लगी हूं.” मैंने उसे सांत्वना दिया.

” “मां, हमने बचपन से लेकर अब तक एक लंबा समय साथ में बिताया है, अब तो हमें एक-दूसरे से बात करने की आदत हो गई है. अपने योग्य, सुंदर बेटे की पड़ोस की साधारण-सी रिया से नज़दीकियां मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रही थीं. उसकी शादी को लेकर हम सबने बड़े सपने संजोए थे, किंतु हमारे सारे अरमानों पर पानी फिर गया. जवान लड़का घर से चला जाए, यही चाहते हो क्या तुम लोग? ग्यारह-बारह बजे अपने कमरे में चली जाती और घंटों सोती रहती. सुबह-शाम उसके भतीजे-भतीजी डिब्बा लिए हाज़िर रहते, ‘मम्मी ने दिया है, बुआ को बहुत पसंद है.’ ‘दादी ने फूफाजी के लिए भेजा है.’ उन डिब्बों के स्वादिष्ट व्यंजनों से मुझे परहेज़ न था, लेकिन ‘फूफा-बुआ मात्र’ की भावना चुभ जाती. कुछ सोचती रहती, उसने छत के चक्कर लगाना और टिफिन लाने का क्रम भी रोक दिया था. जिस लड़की को मैं समझा-समझाकर थक गई, उसमें अचानक इतना परिवर्तन कैसे आ गया?

ऋषभ के ‘कुछ भी तो नहीं है’ कहने पर भी मुझे विश्‍वास नहीं हुआ. आजकल आए दिन कभी पकौड़े की प्लेट, तो कभी अचार की शीशी लिए हाज़िर हो जाती थी. जल्दी ही ऋषभ ने रिया से विवाह की घोषणा करके हम सबको गहरा आघात दिया. जिस दिन ऋषभ-रिया नैनिताल जा रहे थे, रिया ने आकर मुझसे कहा था, “आप परेशान मत होइएगा, मेरी मम्मी ने रास्ते के लिए खाना बना दिया है.” वे दोनों हनीमून रवाना हो गए. रागिनी ने जाने से पहले मुझसे कहा, “वहां से लौटकर आएं, तो भाभी से खाना बनवाना शुरू कर दीजिए, वरना ज़िंदगीभर आप उसे बिठाकर खिलाती रहेंगी.” “हां, और क्या उसे तो करना ही है.” मैंने कह तो दिया, लेकिन मन ही मन असमंजस में भी थी. सुबह उठकर चाय, खाना सबके लिए बनाती, अपना टिफिन लेकर मुंह लटकाए चली जाती. ” “मां, उसकी कुछ फैमिली प्रॉब्लम है.” “अच्छा, अब तू सीधे शब्दों में बता, बातें घुमा-फिराकर कहना छोड़.” “उसकी भाभी जो सब काम-धाम करती थी और भइया जो एकमात्र कमानेवाले मेंबर हैं, उन लोगों ने अलग रहने का निर्णय ले लिया है.

राखी है नाम भाई का बहनों को बचाना राखी है नाम मर्द का औरत को बचाना राखी है नाम अजनबी को बहन बनाना फिर बहन की रक्षा में जी जान लगानापर यहाँ तो दस्तूर हैं हैवानों के जारी खुद अपने ही होते हैं कई बार शिकारी हर एक की जुबां पे हैं माँ बहन की गाली हर एक जबां गंदी है हर आँख है कालीहे भाई तू सब बहनों की रक्षा सदा करना दुशासनों की दुनिया में श्रीकृष्ण तुम बनना हर द्रौपदी के सर पे अपना हाथ बढ़ाना मानवता क्या होती है ये दुनिया को दिखानाइतना था कहना उसका कि वो मंद हो गई इस भाई के हाथों में वो विलीन हो गयी दुनिया के सफर को यहीं पे खत्म कर चली भगवान की गोदी में कहीं दूर हो चली…Disclaimer: By Quran and Hadiths, we do not refer to their original meanings.

We only refer to interpretations made by fanatics and terrorists to justify their kill and rape.

Search for Hide sex khne:

Hide sex khne-77Hide sex khne-55

सुबह का नाश्ता हो जाएगा.” “तुम दोनों का तो हो जाएगा, पर हमारा नहीं. धीरे-धीरे सब सीख जाएगी.” “धीरे-धीरे उसमें अलगाव की प्रवृत्ति आ जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

One thought on “Hide sex khne”

  1. Some rooms have different focus topics for people to discuss. Others involve live video chat as some function of the room, if not the entire function. Free sex chat rooms are even better because you can feel completely liberated without commitment.